क्या है Business Ethics ? और इसकी महत्ता ?

Post Highlight

सभी व्यवसायों का यह दायित्व होता है कि वे अपने ग्राहकों और कर्मचारियों (Customers and Employees) को बेहतरीन सेवा दें और प्रोफेशनल (Professional) रूप से काम करें। व्यावसायिक नैतिकता का पालन (Follow Business Ethics) करने से बेहतर सेवा प्रदान करने में, कंपनी को बढ़ाने में और गुणवत्तापूर्ण कर्मचारियों (Quality employees) को बनाए रखने में मदद मिलती है। तो चलिए जानते हैं, व्यावसायिक नैतिकता क्या है। नैतिकता ’शब्द ग्रीक शब्द ‘एथोस (Athos)’ से लिया गया है, जिसका तात्पर्य एक समाज में व्यवहार के चरित्र, विचारों और मानकों से है। व्यक्तिगत नैतिकता (Ethical behavior in business) एक व्यक्ति के लिए सही और गलत व्यवहार को परिभाषित करती है। व्यावसायिक अर्थों में, नैतिकता यह बताती है कि संगठनात्मक संदर्भ (Organizational context) में मानव आचरण में अच्छे या बुरे का क्या गठन होता है। हम यह भी कह सकते हैं कि व्यावसायिक नैतिकता का संबंध जीवन बनाने से है, न कि केवल जीवन जीने से।

अपने कंपनी के बेहतर प्रदर्शन के लिए और उन्हें संगठित रखने के लिए कुछ व्यावसायिक नैतिकताओं को बनाए रखना जरूरी माना जाता है। आप व्यक्तिगत व्यावसायिक नैतिकता Personal Business Ethics भी विकसित कर सकते हैं, जो आपके करियर में आपकी बहुत मदद करेगा।

नैतिकता क्या है? (What Is Ethics)

जब आपको सही और गलत का पता होता है और आप उसकी मदद से निर्णय लेने में सक्षम होते हैं, आपको परिस्थितियों का मूल्यांकन करना आता है आदि, ये सभी नैतिकता के अंतर्गत आते हैं। ईमानदारी, जिम्मेदारी, विश्वास (Honesty, Responsibility, Trust) यह सभी व्यक्तिगत नैतिकता के अंतर्गत आते हैं, वहीं वफादारी, पारदर्शिता, निष्पक्षता,सम्मान (Loyalty, Transparency, Fairness, Respect) यह सब व्यापार या पेशेवर नैतिकता (Professional ethics) के अंतर्गत आते हैं।

व्यावसायिक नैतिकता क्या है? (What Is Business Ethics)

हर उद्योग का अपना-अपना नैतिक आचरण होता है और यह तय करता है कि वो कंपनी ग्राहकों को कैसी सेवा दे रही है। कर्मचारियों का एक दूसरे के प्रति कैसा व्यवहार है और मालिक का कर्मचारियों की तरफ कैसा व्यवहार है। आप आसान भाषा में कह सकते हैं कि प्रत्येक उद्योग का अपना नैतिक आचरण (Ethical behavior) होता है, जो कंपनी में हो रहे विभिन्न प्रक्रियाओं और प्रणालियों को प्रभावित करता है।

व्यावसायिक नैतिकता एक कंपनी के मूल्यों और लक्ष्यों को सूचित करती है, साथ ही यह भी बताती है कि यह अपने दिन-प्रतिदिन के कार्यों को कैसे चलाता है। एक नैतिक कंपनी ईमानदारी, अखंडता, निष्पक्षता, भरोसेमंदता, जवाबदेही और दूसरों के प्रति सम्मान जैसे सिद्धांतों पर चलती है

व्यावसायिक नैतिकता के लाभ (Benefits Of Business Ethics)

व्यवसाय की ओर अधिक निवेशकों को आकर्षित करता है।

ग्राहकों के संदर्भ में प्रतिस्पर्धात्मक लाभ प्रदान करें।

ग्राहक वफादारी बनाएँ।

एक कंपनी की प्रतिष्ठा बढ़ाएँ।

कानूनी मुद्दों से बचें।

अच्छा स्टाफ बनाए रखें।

सामान्य व्यक्तिगत नैतिकता के उदाहरण

1.पारदर्शिता (Transparency)

कोई भी ग्राहक या कोई कर्मचारी ऐसी कंपनी के साथ नहीं जुड़ना चाहेगा जो सही तथ्य ना दें और अपनी कही जाने वाली बात पर स्पष्ट ना हो।

एक कंपनी को हर चीज के बारे में स्पष्ट और खुले तौर पर बात करना जरूरी है। ग्राहक भी ऐसी कंपनी को काफी पसंद करते हैं और इससे ग्राहकों और कंपनी के बीच अच्छा रिलेशन बनाता है, जो आगे कंपनी को सफल बनाता है। जनता को अक्सर उसी कंपनी के उत्पाद और सेवा में भरोसा होता है, जो कंपनी अपनी बात को स्पष्ट रूप से पेश करती है।

2.वफादारी (Loyalty)

दवाब होने पर भी जब आप अपने निर्णय पर अडिग (Adamant) होते हो, तो ये आपका साहस दिखाता है। चाहे कैसा भी वक्त को कंपनी को हमेशा सही रास्ता ही चुनना चाहिए। यह स्पष्ट करता है कि कंपनी अपने ग्राहकों और कर्मचारियों के प्रति कितनी वफादार है। वफ़ादारी, व्यवसाय में सफलता के लिए एक महत्वपूर्ण घटक है।

3.विश्वसनीयता (Reliability)

ऐसी कंपनियां को ग्राहकों और कर्मचारियों से किए गए वादे को पूरा करती हैं, वे भविष्य में ज्यादा सफल होती हैं। लोग उन लोगों के साथ काम करना और खरीदना पसंद करते हैं, जिनके ऊपर उन्हें भरोसा है।

4.निष्पक्षता और समानता (Fairness and Equality)

वैसे तो सारी ही कंपनियों को निष्पक्ष रूप (Objectively) से कार्य करने का प्रयास करना चाहिए लेकिन इस बात का ध्यान उन कंपनियों को ज्यादा रखना चाहिए जो नई-नई स्थापित हुई हैं। कभी भी प्रतिस्पर्धा के चक्कर में पड़कर सम्मानजनक तरीकों का उपयोग करना ना भूलें। आपको हर ग्राहक और कर्मचारी के साथ समानता का व्यवहार करना है।

5.उत्कृष्टता प्रदान करना (Delivering Excellence)

ग्राहकों को बेहतर उत्पाद और सेवा देना कंपनी का कर्त्तव्य है। नैतिक कंपनियां अपने ग्राहकों को अच्छी सेवा देने के लिए बेहतरीन प्लांस बनाती हैं। वो सर्वोत्तम तरीकों को खोजती हैं, जिनसे वो व्यवसाय में उत्कृष्ट प्रदर्शन (Outstanding Performance) कर पाएं।

नैतिकता का महत्व इस प्रकार है: (The Importance Of Morality )

1. बुनियादी मानव आवश्यकता (Basic Human Needs) :

नैतिकता बुनियादी मानवीय आवश्यकताओं से मेल खाती है। यह मानवीय गुण है कि आदमी नैतिक होने की इच्छा रखता है: न केवल अपने निजी जीवन में बल्कि अपने व्यावसायिक मामलों में भी, जहां एक प्रबंधक होने के नाते, वह जानता है कि उसके फैसले हजारों कर्मचारियों या ग्राहकों के जीवन को प्रभावित कर सकते हैं।

2. क्रेडिट में सुधार (Improve Credit):

जनता के साथ विश्वसनीयता पैदा करते हैं। जनता द्वारा नैतिक और सामाजिक रूप से उत्तरदायी होने के लिए माना जाने वाला व्यवसाय उन लोगों द्वारा सम्मानित और सम्मानित किया जाएगा जिन्हें इसके वास्तविक काम का कोई अंतरंग ज्ञान नहीं है। सार्वजनिक मुद्दे व्यवसाय (Public Affairs Business) से तत्काल प्रतिक्रिया (Immediate Feedback) आकर्षित करते हैं क्योंकि यह इसकी विश्वसनीयता को प्रभावित करता है।

3. समन्वय में सुधार (improve Coordination):

मूल्य संगठनों में शीर्ष से निचले स्तर तक मूल्य की भाषा का समन्वय करके प्रबंधन को विश्वसनीयता प्रदान करते हैं। संगठनात्मक नैतिकता (Organizational Ethics) , जब कर्मचारियों द्वारा वास्तविक के रूप में माना जाता है और सामान्य लक्ष्य बनाते हैं, तो नैतिक वातावरण में सुधार होता है।

उद्यमी के पास अपने कर्मचारियों के साथ विश्वसनीयता होती है क्योंकि जनता के साथ उसकी विश्वसनीयता होती है। न तो ध्वनि व्यापार रणनीति, न ही एक उदार मुआवजा नीति और फ्रिंज लाभ कर्मचारी की विश्वसनीयता जीत सकते हैं। अपने कर्मचारियों द्वारा व्यवसाय के बारे में अनुमानित नैतिक और सामाजिक ईमानदारी कर्मचारियों के बीच विश्वसनीयता का आधार हो सकती है।

4. बेहतर निर्णय लेना (Make Better Decisions) :

मान बेहतर निर्णय लेने में मदद करते हैं। एक नैतिक दृष्टिकोण प्रबंधन को बेहतर निर्णय लेने में मदद करता है, अर्थात, ऐसे निर्णय जो जनता, उनके कर्मचारियों और व्यवसाय के लंबे हित में होते हैं, भले ही निर्णय लेने में धीमी गति हो। नैतिकता एक प्रबंधन को उनके नैतिक निहितार्थों (Implications) को ध्यान में रखते हुए आर्थिक, सामाजिक निर्णयों (Economic, Social Decisions) के विभिन्न पहलुओं को लेने के लिए मजबूर करती है।

5. नैतिकता और मुनाफे के बीच व्यापार ( Trade Between Ethics And Profits):

नैतिक और लाभ एक साथ आ सकते हैं। एक कंपनी, जो नैतिक आचरण से प्रेरित है, वह भी लाभदायक है। मूल्य चालित कंपनियों को लंबे समय में सफल होना निश्चित है, हालांकि कम समय में वे पैसे ढीले कर सकते हैं। नैतिकता व्यवसाय को समाज में दीर्घकालिक ब्रांड इक्विटी विकसित (Develop long term brand equity) करने में मदद करती है

Tags:

business ethics, ethical issues in business, types of business ethics

इस लेख को पूरा पढ़ने के लिए कृपया लिंक पर क्लिक करें –

लेटेस्ट हिंदी बिज़नेस न्यूज़ पढ़ने के लिए कृपया लिंक पर क्लिक करें –

Published by Think With Niche

Business Blogging & Global News Platform. Here Leaders & Readers Exchange Business Insights & Industrial Best Practices on Startups & Success #TWN

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

Create your website with WordPress.com
Get started
%d bloggers like this: